June 23, 2024

Engineer’s Day : श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में इंजीनियर्स के सम्मान हुआ कार्यक्रम…

0

रायपुर।। ” इंजीनियर्स डे” के मौके पर श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में इंजीनियर्स के सम्मान और भारत के महानतम इंजीनियर्स में से एक, सर मोक्ष गुंडम विश्वेश्वरैया की जयंती को चिह्नित करने के लिए इंजीनियरिंग दिवस समारोह का आयोजन किया गया। बता दें की “इंजीनियर्स डे” हर साल भारत के महानतम इंजीनियरों में से एक, सर मोक्ष गुंडम विश्वेश्वरैया की जयंती हर साल 15 सितंबर को मनाते हैं। इस अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में इंजीनियर्स डे स्पेशल रहा ।

_Advertisement_

Read More :- स्वच्छता पखवाड़ा में शामिल हुआ एसआरयू, विभिन्न गतिविधियों से दिया स्वच्छता का संदेश…


” इंजीनियर्स डे” को छात्रों ने इंजीनियर्स की तरह ही सेलिब्रेट किया सभी ने अलग अलग ब्रांच के इंजीनियर्स की तरह पेंटिंग, ड्रामा, टेक्नो टॉक, टेक्निकल मॉडल और मॉडल मेकिंग किया ।साथ ही इस मौके पर काफी उत्साह और जोश के साथ नृत्य और संगीत की प्रस्तुति दी।

_Advertisement_

resistration open 2022-23

_Advertisement_

इंजीनियर्स डे में विशिष्ठ अतिथि के रूप में भिलाई के विधायक देवेन्द्र यादव ,एनआईटी रायपुर से निदेशक प्रो. ए.एम. रवानी और गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड से कार्यकारी निदेशक दिनेश अग्रवाल उपस्थित रहे। इसके साथ ही कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति प्रो. एस. के. सिंह और कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह एवं इंजीनियरिंग विभाग के डीन डॉ. आर.आर. बिराली और सभी सदस्य उपस्थित रहे।


Read More :- देश के 14वें अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी, अक्टूबर से शुरू होगा कार्यकाल…


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम ने सभी को “इंजीनियर्स डे ” की शुभकामनाएँ दी साथ ही अपना एक्सपीरियंस साझा करते हुए प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम ने बताया कि सभी फिल्में इंजीनियरिंग का बहुत बड़ा योगदान है मैकेनिकल, सिविल, सीएस, किसी भी दशा में टेक्नोलॉजी का दौर हैं। हर फील्ड एक-दूसरे से जुड़ी हुई है, हमने देखा कि कोरोना के समय भी जब डॉक्टर आम जनता को फिजिकल टच करने में डर रहे थे तब इंजीनियर्स के ही बनाए गए इंस्ट्रूमेंट का उपयोग कर उन्होंने लोगों का इलाज किया है। उन्होंने कहा की इंजीनियरिंग या किसी भी फील्ड से इस विश्वविद्यालय के छात्र शिक्षा पूर्ण होने के पश्चात जो विकास उतपन्न होगा उनका बौद्धिक विकास होगा। आपको इस विकास को तकनीकी विकास में परिवर्तन करने हेतु स्वयं विचार कर परिपक्व बनाना हैं।

इसके साथ ही विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसके सिंह ने सभी अतिथियों एवं विद्यार्थियों तथा विश्वविद्यालय के स्टाफ को “इंजीनियर्स डे ” की बधाइयां दी। उन्होंने कहा की इंजीनियरिंग मानव जाति के लाभ के लिए, संसाधनों के रूपांतरण के लिए, विज्ञान को लागू करने से लेकर एक पेशेवर कला है उन्होंने “इंजीनियर्स डे ” के इस अवसर पर इंजीनियर के महत्व के बारे में बताते हुए सभी इंजीनियर को समाज के लिए उनके सभी योगदान के लिए धन्यवाद।


Read More :- मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग, कुम्हारी में M.Sc. नर्सिंग, पढ़िए कोर्स की जानकारी…


गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड से कार्यकारी निदेशक दिनेश अग्रवाल इस अवसर पर छात्रो से कहा की कार्य को करते समय एकाग्रता अति आवश्यक है, शारीरिक उपस्थिति के साथ साथ मानसिक उपस्थिति भी आवश्यक है। सबको अब्दुल कलाम जी से प्रेरणा लेकर उनके तरह बनना चाहिए एक ही अब्दुल कलाम से क्या होगा। साथ ही कहा की शारीरिक संरचना मायने नहीं रखती, महत्वपूर्ण है बुद्धि, कभी भी अपने जीवन में अपनी परिस्थिति के बारे में मत सोचो, जो कुछ भी उपस्थित होता है उसे उच्चतम स्थान तक ले जाए। उन्होंने कहा की जो वातावरण विश्वविद्यालय के द्वारा यहां के सभी छात्रों को दिया जा रहा है (हरा भरा केंपस बढ़िया इंफ्रास्ट्रक्चर) यह सभी एक पॉजिटिव वातावरण देते हैं जो कि पढ़ाई और कार्य के लिए अति आवश्यक है।

भिलाई के विधायक देवेन्द्र यादव ने “इंजीनियर्स डे ” की शुभकामनाएँ देते हुए छात्रों को प्रेरित किया। और कहा की जिसमें मन लगता है वह कार्य करें और उस कार्य को निरंतरता के साथ करें, क्योंकि जीवन में कामयाबी का एक ही मंत्र है “निरंतर प्रयास” .निरंतर प्रयास करने से ही जीवन के उद्देश्य को प्राप्त कर सकते है।

एनआईटी रायपुर से निदेशक प्रो. ए.एम. रवानी ने कहा कि सिर्फ इंजीनियरिंग डिग्री प्राप्त करने से कोई इंजीनियर नहीं बन जाता उनके लिए महत्व पूर्ण यह है की जो भी ज्ञान उन्होंने यह से पाया उसका सदुपयोग समाज के अच्छाई के लिए करें और उस ज्ञान का उपयोग सभी जगह सही तरीके से करें। इंजीनियर्स का योगदान दुनिया के चारो तरफ है पब्लिकेशन, ट्रांसपोर्टेशन, हैल्थ सेक्टर सभी जगह इंजीनियर्स ने अपना योगदान दिया । तकनीकी के अच्छे और बुरे दोनों ही प्रभाव होते है लेकिन ये हम पर निर्भर होता है की हम उसका कैसे उपयोग करते हैं। इस विश्वविधालय के छात्र जो तकनीकी ज्ञान प्राप्त कर रहे है उसका उपयोग समाज की अच्छाई के लिए करें।


Read More :- श्री रावतपुरा सरकार इंटरनैशनल स्कूल कुम्हारी में बच्चों ने जाना हिंदी का महत्व…


कार्यक्रम के अंत में अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर धन्यवाद ज्ञापित किया और राष्ट्रगान के साथ इंजीनियरिंग डे समारोह का समापन किया ।

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय, विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति प्रो डॉ. एस. के सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह ने सभी स्टाफ और छात्रों को “इंजीनियर्स डे ” की शुभकामनाएं दी….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *