June 21, 2024

लता मंगेशकर को पसंद नहीं ये चीज, इसलिए सिगिंग में बनाया करियर…

0

स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने कैंडी ब्रीच हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली. उन्होंने अपने पूरे करियर में लगभग 30 हजार से ज्यादा गानों को अपनी आवाज दी है. लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा कि उन्होंने बहुत कम उम्र में नाटकों और फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिकाएं निभाई हैं.

_Advertisement_

पांच साल की उम्र में लगा मंगेशकर ने मराठी भाषा में अपने पिता के संगीत नाटकों में एक अदाकारा के रूप में काम करना शुरू कर दिया था.

_Advertisement_

मंगेशकर पर लिखी किताब में लेखक यतींद्र मिश्रा ने नाट्यमंच पर गायिका की शुरुआत का जिक्र किया है. उन्होंने लता: सुर गाथामें लिखा है, पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर की नाटक कंपनी बलवंत संगीत मंडलीने अर्जुन और सुभद्रा की कहानी पर आधारित नाटक सुभद्राका मंचन किया. पंडित दीनानाथ ने अर्जुन की भूमिका निभाई जबकि नौ वर्षीय लता ने नारद की भूमिका निभाई.

_Advertisement_

उन्होंने अपने पिता की फिल्म गुरुकुलमें कृष्ण की भूमिका निभाई. साल 1942 में जब लता मंगेशकर के पिता की हृदय रोग से मृत्यु हो गई तब फिल्म अभिनेता-निर्देशक और मंगेशकर परिवार के करीबी दोस्त, मास्टर विनायक दामोदर कर्नाटकी ने उन्हें एक अभिनेत्री और गायिका के रूप में अपना करियर शुरू करने में मदद की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *