June 23, 2024

सर्वे रिपोर्ट: शिक्षा मंत्रालय ने किया खुलासा, 100 में से 48 प्रतिशत बच्चे पैदल, महज़ 9 प्रतिशत स्कूली वाहनों से जाते हैं स्कूल…

0

शिक्षा मंत्रालय सर्वे रिपोर्ट के तहत देश में स्कूल जाने वाले बच्चों में 48 प्रतिशत पैदल स्कूल जाते हैं। महज़ 9 प्रतिशत बच्चे ही स्कूल के वाहनों का इस्तेमाल करते हैं। बता दें शिक्षा मंत्रालय के राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस)-2021 की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। सर्वे के अनुसार 25 फीसदी स्कूलों में छात्रों के अध्ययन के लिए आवश्यक पालक की सहायता का अभाव है।

_Advertisement_

join whatsapp

_Advertisement_

 

_Advertisement_

Read More:-एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में अतिथि शिक्षकों के लिए भर्तियां, देंखे आवेदन से संबंधित जानकारी…

सर्वे में 720 जिलों के 1.18 लाख स्कूूलों के 34 लाख छात्रों को शामिल किया गया। पिछले साल 12 नवंबर को देशभर में तीसरी, पांचवीं, आठवीं व 10वीं कक्षाओं के लिए यह सर्वे किया गया। मंत्रालय के अनुसार, एनएएस-2021 का आयोजन शिक्षा मंत्रालय के स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने किया। उल्लेखनीय हैं की इसके पहले 2017 में एनएएस किया गया था।

65 फीसदी शिक्षकों पर काम का बोझ-

शिक्षा मंत्रालय के राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस)-2021 के अनुसार 44 फीसदी शिक्षकों के पास पर्याप्त कार्य स्थान की कमी है, जबकि 65 प्रतिशत पर काम का बोझ है। सर्वे के अनुसार 58 फीसदी शिक्षकों ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर चर्चा में भाग लिया है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के 1.18 लाख स्कूलों के पांच लाख शिक्षकों ने एनएएस-2021 में हिस्सा लिया।

97 फीसदी शिक्षकों ने अपनी नौकरी से संतुष्टी जताई है, इनमें से 92 फीसदी ने उनके व्यावसायिक विकास की गुंजाइश की बात कही है। सर्वे के अनुसार 52 फीसदी ने डीआईईटी, सीबीएसई और एनसीईआरटी द्वारा आयोजित व्यावसायिक विकास कार्यक्रमों में हिस्सा लिया है।

Read More:-ट्विटर में बड़ा परिवर्तन, पूर्व-सीईओ और को-फाउंडर ने कंपनी के बोर्ड से खुद को किया अलग…

25% पालक नहीं करते बच्चे की पढ़ाई में मदद-

87 फीसदी स्कूल छात्रों की पढ़ाई के लिए पालक का मार्गदर्शन करते हैं जबकि 25 प्रतिशत स्कूलों ने पालक की तरफ से छात्रों के अध्ययन में सहयोग न मिलने की बात कही।

18% बच्चे साइकिल से, नौ फीसदी सार्वजनिक वाहनों, नौ प्रतिशत स्कूली वाहनों से, आठ प्रतिशत अपने दोपहिया वाहनों और तीन प्रतिशत अपने चौपहिया वाहन से स्कूल जाते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, 89 प्रतिशत बच्चे स्कूल में पढ़ाए गए पाठ को अपने परिवार के साथ साझा करते हैं।

Read More:-भारत में बसा है दुनिया का सबसे अमीर गाँव, देंखे एक गाँव में 17 बैंक होने की वजह…


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *