छत्तीसगढ़: जल्द खुलेंगे 50 नए एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय, जाने शिक्षा मंत्री की योजना…

0

प्रदेश में राज्य सरकार शिक्षा नीति को बेहतर बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है. सरकार ने सत्ता में आने के बाद प्रदेश में कई स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलें हैं. साथ ही अब स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम कॉलेज भी खोलने की तैयारी कर रही है. लगातार शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर काम करने के बाद अब छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में और 50 नए एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय खोलने जा रही है. जिसकी तैयारी भी शुरू कर दी गई है. यह निर्देश प्रदेश के शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने दिया है.

Read More:-छत्तीसगढ़िया ओलंपिक : जल्द होगा प्रदेश में छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल का आयोजन, पुरुष और महिला दोनों श्रेणियों में होंगे मुकाबले…

यह जानकारी आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास व शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम की अध्यक्षता मे मंत्रालय महानदी भवन में आयोजित आवासीय एवं आश्रम संस्थान संचालक मंडल की बैठक में दी गई. राज्य में 50 नए एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के भवन निर्माण की स्वीकृति दी गई है. जिसमें 11 भवनों का निर्माण शुरू करा दिया गया है. 12 स्कूलों के भवन निर्माण के लिए वन संरक्षण अधिनियम के तहत भूमि आवंटन प्रक्रियाधीन है. जबकि बाकि 27 स्कूलों के भवन की निर्माण की स्वीकृति के लिए प्रस्ताव भारत सरकार राष्ट्रीय आदिवासी शिक्षा समिति के समक्ष प्रक्रियाधीन है.

वहीं अधिकारियों ने मंत्री को बैठक में बताया कि शिक्षण सत्र 2022-23 में प्रदेश में संचालित 73 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है. इनमें से 41 स्कूलों की सीबीएसई संबद्धतापूर्ण कर ली गई है. 39 स्कूलों की संबद्धता प्रक्रियाधीन है. इन संचालित स्कूलों में शिक्षण सत्र 2022-23 में प्रवेश के लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा में 4380 सीट के लिए 27,397 आवेदन प्राप्त हुए और 25,025 बच्चे परीक्षा में शामिल हुए. सीबीएसई पाठ्यक्रम से अध्यापन के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है. शिक्षण सत्र 2022-23 से प्रदेश में संचालित सभी एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में कक्षा 6वीं में प्रवेशित विद्यार्थियों को अंग्रेजी माध्यम से अध्यापन कराया जा रहा है.

Read More:-एशिया कप: रोहित शर्मा ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड, बने इंडिया के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज…

साथ ही बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता का आयोजन 28 नवंबर को आंध्रप्रदेश में और राष्ट्रीय सांस्कृति उत्सव का आयोजन 31 अक्टूबर से 2 नवंबर तक कर्नाटक में होना प्रस्तावित है. छत्तीसगढ़ में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के विद्यार्थी इन प्रतियोगिताओं में शामिल होंगे. मंत्री डॉ. टेकाम ने अधिकारियों को इन प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए बच्चों को पूरी तैयारी के साथ भेजने के निर्देश दिए हैं. बैठक में आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के सचिव डी.डी. सिंह, आयुक्त शम्मी आबिदी सहित संचालक मंडल के सदस्य मौजूद थे.

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार इंटरनैशनल स्कूल कुम्हारी में मनाया गया शिक्षक दिवस, छात्र-शिक्षकों ने किया रैम्प वॉक…

 

srigo


 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *