June 23, 2024

“सुनो रायपुर”: एसआरयू के स्टाफ और विद्यार्थियों को रायपुर पुलिस ने किया साइबर क्राइम के प्रति सचेत…

0

रायपुर।। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में साइबर क्राइम के प्रति जागरूकता लाने “सुनो रायपुर” अभियान के तहत विश्वविद्यालय के स्टाफ और छात्रों को जागरूक किया गया। बता दें की राजधानी में 15 अगस्त से 21 अगस्त तक रायपुर पुलिस द्वारा साइबर क्राइम के प्रति जागरूकता के लिए “सुनो रायपुर” अभियान चलाया जा रहा हैं।

_Advertisement_

Read More:-भारत और पाक के बीच न्यूक्लियर वॉर छिड़ती है तो मारे जा सकते हैं 2 अरब से ज्यादा लोग…

 

_Advertisement_

_Advertisement_


 

“सुनो रायपुर” अभियान के प्रति जागरूक करने के लिए न्यू रायपुर सीएसपी जितेंद्र चंद्राकर, मुजगहन थाना के टीआई विजय ठाकुर, एसआई मुजगहन थाना सुंदर लाल गोले ने श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में जानकारी साझा की। इस अभियान के तहत उन्होंने बताया की इन दिनों लोग लेन-देन के लिए डिजिटल तरीके अपना रहे हैं, जिसके चलते इंटरनेट और स्मार्टफोन के उपयोग में बढोत्तरी हुई है। नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और डिजिटल पेमेंट्स करने के दौरान कई बार लोग साइबर फ्रॉड का शिकार होकर अपनी मेहनत की कमाई गंवा देते हैं। पुलिस को साइबर ठगी की कई शिकायतें मिल चुकी हैं। लिहाजा रायपुर पुलिस ने लोगों को साइबर अपराधों का शिकार होने से बचाने के लिए साइबर क्राइम के अलग- अलग तरीकों और उससे बचने के उपाये भी बताये।

Read More:-प्रदेश के जवानों का हमर तिरंगा यात्रा, दर्ज कराया वर्ल्ड रिकॉर्ड…

साइबर क्राइम से बचने के उपाय:-

  • यदि कोई अज्ञात व्यक्ति आपको कॉल/मैसेज करके या आपकी किसी भी सेवा को ब्लॉक करने की धमकी देकर, आपकी कोई भी मौजूदा सेवा, ऑनलाइन खरीदारी या व्यक्तिगत जानकारी देकर विश्वास में लेकर आकर्षक ऑफर देता है, तो ध्यान रखें कि आप साइबर फ्रॉड के शिकार हो सकते है।
  • अज्ञात नंबरों से वीडियो कॉल न उठाएं। फोन उठाते ही आप ब्लैकमेलिंग का शिकार हो सकते हैं। सोशल मीडिया पर अजनबियों से दोस्ती करने से बचें।
    अनजान नंबरों के लिंक पर कभी भी क्लिक न करें। आपका फोन हैक हो सकता है।
  • अज्ञात व्यक्ति के कहने पर किसी भी एप्लिकेशन का त्वरित समर्थन, एनीडीईएसके, टीम दर्शक को स्थापित न करें। आपका फोन हैक हो सकता है।
  • बीमा/वित्त/किस्त/लोन/केवाईसी अपडेट/सीम ब्लॉकिंग/लॉटरी/केबीसी या लकी ड्रॉ जैसे फोन कॉल/मैसेज का शिकार होने से बचे ।
  • अपनी व्यक्तिगत जानकारी जैसे आधार नंबर, पैन कार्ड नंबर, एटीएम, ओटीपी आदि किसी भी अनजान व्यक्ति को फोन पर साझा न करें।
  • पंजीकरण या खाता परीक्षण के नाम पर 10 रुपये जैसी राशि के हस्तांतरण के लिए लिंक के माध्यम से कोई लेनदेन न करें।
  • ध्यान रखें, क्यूआर कोड स्कैन केवल भुगतान करने के लिए है, भुगतान के लिए कॉल करने के लिए नहीं। यूपीआई के माध्यम से भुगतान प्राप्त करते समय पिन दर्ज न करें।
  • गूगल में कस्टमर केयर नंबर सर्च करते समय सावधानी बरतें। कस्टमर केयर नंबर के लिए हमेशा संबंधित कंपनी की वेबसाइट पर विजिट करें।
  • 1[440]846-9222[2],1[440]846-9220,1[501]940,+92 जैसे अज्ञात नंबरों से फोन कॉल से सावधान रहें।
  • सोशल मीडिया खातों पर दो चरण सत्यापन का उपयोग करें। अनावश्यक व्यक्तिगत जानकारी सार्वजनिक न करें। गोपनीयता सेटिंग्स का उपयोग करके प्रोफ़ाइल लॉक रखें।
  • सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाली खबरों से बचें और बिना चेक किए आगे न बढ़ें।
  • साइबर अपराध/धोखाधड़ी का शिकार होने की स्थिति में टोल फ्री नंबर 1930 पर कॉल करें, 07714247109 पर cybercrime.gov.in या व्हाट्सएप रायपुर पुलिस साइबर सेल पर शिकायत करें।

Read More:-छत्तीसगढ़: मौसम विभाग ने की भविष्यवाणी,गुरुवार से फिर शुरू होगी वर्षा…

 


 

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय ने विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति डॉ. एस. के. सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह के साथ विश्वविद्यालय के सभी शैक्षणिक और अशैक्षणिक स्टाफ़ एवं विद्यार्थियों को सफल जागरूकता अभियान के लिए शुभकामनाएं दी…

Read More:-प्रदेश के जवानों का हमर तिरंगा यात्रा, दर्ज कराया वर्ल्ड रिकॉर्ड…

 


 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *