July 23, 2024

एसआरयू में मनाया गया शिक्षक दिवस, गुरुओं के सम्मान में छात्रों ने दी प्रस्तुति, अतिथियों ने शिक्षा और शिक्षक के महत्व पर की चर्चा…

0

रायपुर।। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर में “शिक्षक दिवस समारोह” का आयोजन किया गया। बदलते दौर में शिक्षक और छात्र के संबंध में काफी बदलाव आ गया है। आज के दौर में शिक्षक मार्गदर्शक के साथ-साथ छात्रों के दोस्त भी हैं। हमें शिक्षित करने के लिए कड़ी मेहनत और प्रयत्न के लिए दिशा दिखाने वाले शिक्षक होता हैं। बता दें की शिक्षक दिवस देश में हर साल भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति, एक महान शिक्षक डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के अवसर पर मनाया जाता है।


Read More:-SRU : “दीक्षारम्भ” तृतीय दिवस, छात्रों को विश्वविद्यालय की सुविधाओं से कराया गया अवगत…

विश्वविद्यालय में शिक्षक दिवस समारोह के इस अवसर पर मुख्य अतिथि पद्म श्री डॉ. सुरेंद्र दुबे और विशेष अतिथि एसएसडी बिजनेस एंड मशीनरी डिवीजन जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के उपाध्यक्ष नीलेश टी. शाह और राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार विजेता एम. आर. सावंत रहें। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम कुलपति प्रो. एस. के. सिंह उपस्थित रहे।



Read More:-अर्थव्यवस्था: एक दशक में 11वें से 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था बना भारत…

परम पूज्य श्री रविशंकर जी महाराज ने शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा की प्रतिकुलाधिपति हर्ष गौतम जी, कुलपति एस. के. सिंह जी, रजिस्ट्रार साहब, प्रोफेसर साहब व छात्र छात्राएं, आपको शिक्षक दिवस की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। हम भाग्यशाली हैं कि महान व्यक्तित्व के धनी सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी का जन्म दिवस शिक्षक दिवस के रूप में मना रहे हैं। इसके साथ ही माननीन अतिथि महोदय लोकप्रिय श्री सुरेन्द्र दुबे साहब, श्री नीलेश टी शाह एवं श्री एम. आर. सावंत साहब को भी शिक्षक दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं। इस दिन हम सब गुरुओं को नमन करते हैं. उनसे प्रेरणा लेते हैं और उनके विचारों को कर्म के माध्यम से आगे बढ़ाते हैं। आप श्री रावतपुरा सरकार के प्रोफेसरों, शिक्षकों, स्टॉफ, सभी महापुरुषों से प्रेरणा लें व अच्छा काम करें।

“शिक्षक दिवस समारोह” को सम्बोधित करते हुए विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और शिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ दी। इसके साथ ही उन्होंने कहा की हम छात्रों के शैक्षणिक विकास के साथ-साथ व्यक्तिगत विकास के लिए भी संकल्पित हैं शिक्षा केवल डिग्री प्राप्त करने का जरिया नहीं हैं बल्कि एक अच्छा इंसान बनने का, अच्छा भारतीय बनने का, मानवता, इंसानियत के साथ अच्छा भविष्य बनाने की दिशा है।

कुलपति प्रो. एस. के. सिंह ने उपस्थित सभी लोगों का स्वागत किया। उन्होंने कहा की शिक्षक दिवस पर सारे विश्व की मंगल कामना के साथ आज हम इस समारोह की शुरुआत कर रहे है। इसके साथ ही उन्होंने कहा की आप अपने सारे गुरुओं को याद करें जिनका हमारे जीवन की सफलता में हमेशा योगदान रहा हैं। गुरु की महिमा में पूरा भारतीय साहित्य भरा हैं इसमें उन्होंने “गुरूर ब्रह्मा गुरूर विष्णु,गुरु देवो महेश्वरा,गुरु साक्षात परब्रह्म, तस्मै श्री गुरुवे नमः” श्लोक का उदहारण देते हुए छात्रों को प्रोत्साहित किया। उन्होंने सभी शिक्षकों से कहा की एक गुरु माता-पिता, भाई-बहन और दोस्त की भी भूमिका निभाता हैं शिक्षक और गुरु बनने की राह पर आपको दक्ष और नम्र दोनों ही बनना होगा।

इसके साथ ही “शिक्षक दिवस समारोह” में उपस्थित सभी अतिथियों ने अपना-अपना अनुभव साझा किया। विशेष अतिथि जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के उपाध्यक्ष नीलेश टी. शाह ने सभी छात्रों से कहा की पहले आपको आपका लक्ष्य पता होना चाहिए अगर आपको अपना लक्ष्य पता होगा तो भविष्य में आगे बढ़ने में आसानी होगी। उन्होंने अपना अनुभव साझा किया और कहा की सही दिशा और सही सोच के साथ अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़े।

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार विजेता एम. आर. सावंत ने छात्रों को शिक्षक दिवस के इस अवसर पर कहा की जीवन में आगे बढ़ने के लिए शिक्षा के साथ अनुभव भी काफी मायने रखता हैं अपनी स्किल पर ध्यान दीजिए, जो आपके भविष्य के लिए जरूरी है आज हम व्यस्त नहीं अस्त-व्यस्त हैं। हर इंसान के अंदर सिखने की प्रवृत्ति जीवन भर रहना चाहिए। शिक्षको से कहा की हम परंपरागत प्रवृत्ति से ही छात्रों को पढ़ाए ये जरूरी नहीं हैं बल्कि पीछे बैठा बच्चा समझ रहा है की नहीं हमे वो देखना चाहिए।

मुख्य अतिथि पद्म श्री डॉ. सुरेंद्र दुबे ने “शिक्षक दिवस समारोह” पर चार-चाँद लगा दिया और सभी को अपनी कविताओं से मनोरंजित करते हुए छात्र-छात्राओं को प्रेरित किया और कहा की श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में आकर मुझे लगता है की ये विश्वविद्यालय नहीं बल्कि गुरुकुल हैं। उन्होंने कहा कि एक शिक्षक ही समाज का निर्माता हैं। हर युग में शिक्षक और शिक्षा का सम्मान रहा है, हर छात्र अपने शिक्षक से मानसिक रूप से जुड़े ताकि उनका मार्गदर्शन आपको आपके लक्ष्य की तरफ आसानी ले जाए। इसके साथ ही उन्होंने छत्तीसगढी भाषा का बखान किया ।

वहीं छात्रों ने अपने शिक्षकों के सम्मान में संस्कृतिक प्रस्तुति दी। जिसमें नृत्य -संगीत और बैंड की शानदार प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर धन्यवाद ज्ञापित किया ।

resistration open 2022-23

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय ने विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति प्रो डॉ. एस. के सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह और सभी स्टाफ को “शिक्षक दिवस समारोह” के लिए शुभकामनाएं दी ….


Read More :- मदर टेरेसा कॉलेज ऑफ नर्सिंग कुम्हारी मे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया शिक्षक दिवस समारोह…  


 

_Advertisement_
_Advertisement_
_Advertisement_

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *