June 23, 2024

श्री रावतपुरा सरकार संस्थान आरी झांसी में हुआ प्रो.डी.पी.सिंह का आगमन…

0

शिक्षा एवं समाजसेवा में उच्च आयाम स्थापित करने वाले संस्थान श्री रावतपुरा सरकार ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस आरी झांसी में आज श्री प्रो. डी.पी.सिंह ( शिक्षा            सलाहकार,मा.मुख्यमंत्री जी उ.प्र.शासन, पूर्व अध्यक्ष यूजीसी एवं पूर्व डायरेक्टर नैक ) का पूर्व नियोजित कार्यक्रमानुसार आगमन हुआ । कार्यक्रम का शुभारंभ संस्थानिक परिपाटी अनुसार देवपूजन दीप प्रज्ज्वलन, सरस्वती वंदन एवं आतिथ्य सत्कार गीत गायन के साथ हुआ । संस्थान प्रबंधक डॉ.सत्येंद्र सिंह जी के द्वारा मुख्य अतिथि महोदय जी को पुष्पगुच्छ एवं संस्थानिक स्मृति चिह्न भेंट कर उनका स्वागत किया गया ।

_Advertisement_

_Advertisement_

शिक्षा के महत्व का किया वर्णन

इस कार्यक्रम में संस्थान के अध्ययनरत विभिन्न संकायों के छात्र छात्राओं,समस्त स्टॉफ एवं उपस्थित समस्त को संबोधन के क्रम में उन्होनें कहा कि सर्वप्रथम मैं अनंत विभूषित संत शिरोमणि परम श्रद्धेय पूज्य गुरूदेव के चरणों में बारम्बार नमन एवं श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं,मैं जिस पद पर भी रहा एवं अभी कार्यरत भी हूं उन समस्त के पीछे दैवीय सहायक एवं मेरे मनोबल को मजबूत करने में परमपूज्य गुरूदेव का आशीष मुझे सदा मिलता रहा हैं, शिक्षा के महत्व को वर्णन करते हुये उन्होने कहा शिक्षा का अर्थ केवल स्वयं को एक उच्च पद पर आसीन करने में ही समाहित नही है । शिक्षा मनुष्य को जीवन जीने की कला एवं एक सभ्य नागरिक निर्माण का कार्य करती हैं, शिक्षा के माध्यम से हम एक अनुशासित और परिलक्षित समाज की कल्पना कर सकते हैं उन्होने कहा शिक्षा के वास्तविक लक्ष्य के बारे में परमपूज्य गुरूदेव हमेशा ही कहते हैं कि शिक्षा ऐसी हो जो एक सभ्य समाज का निर्माण करें जिसमें बौद्धिक स्तर से शारीरिक तल तक मनुष्य का सर्वागीण विकास हो सके , व्यक्ति को असभ्य विचारों एवं अज्ञानता के जाल से मुक्त करके, उसे सभ्यता एवं ज्ञान के पथ पर ले जा कर सत्य-असत्य के बीच भेद का बोध करायें साथ ही व्यक्ति का चरित्र निर्माण, समानता एकता और उचित न्याय व्यवस्था समाज में समाहित हो ।

_Advertisement_

निरंतर परिश्रम करना ही सफलता का मूलमंत्र हैं।

जिससे एक आदर्श राष्ट्र जो स्वामी विवेकानंद जी एवं महात्मा गांधी के स्वप्नों का भारत उसकी परिकल्पना सार्थक हो सके,नई शिक्षा नीति 2020 हमारे राष्ट्र के उन्नयन करने वाले महापुरुष एवं परमपूज्य गुरूदेव उन समस्त पहलुओ को समाहित किये हैं । जिससे  एक आदर्श नागरिक,आदर्श समाज व एक आदर्श राष्ट्र का निर्माण हो पाए। छात्र-छात्राओ को आशीष देने के अनुक्रम में उन्होने कहा कि कोई भी सफलता अपने आपमें जब तक पूर्ण नही होती तब तक आपने अपने स्वप्न जिसे आपने जागते हुये देखा हैं वह पूर्ण ना हो जाये और अपने स्वप्न की प्राप्ति, अपने घर,गांव एवं क्षेत्र में अपने को उन्नत करने हेतु हमें निरंतर परिश्रम करना हैं और यही सफलता का मूलमंत्र हैं।

संस्थान में मुख्य अतिथि जी के आगमन छात्र छात्राओ,स्टाफ एवं समस्त को दिशा निर्देश व अपने ज्ञान से लाभान्वित करने हेतु संस्थान प्रबंधक डॉ. सत्येंद्र सिंह जी द्वारा आभार व्यक्त किया गया, आभार व्यक्त करने की श्रृंखला में उन्होने कहा कि आप ने अपना बहुमूल्य समय निकालकर के इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु अपना समय दिया । संस्थान आपका सदैव त्रृणी रहेगा तथा श्री रावतपुरा सरकार परिवार के प्रतिनिधि के तौर पर मैं आपसे निवेदन करूंगा कि संस्थानिक गतिविधियों, कार्यक्रम में आप आगे भी अपना मार्गदर्शन संस्थान को देते रहे। जिससे संस्थान नित्य नये आयाम स्थापित करने में अग्रणी हो । कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये श्री प्रबंधक जी ने फार्मेसी संकाय,शिक्षा संकाय, आईटीआई संकाय के प्राचार्य, स्टाफ तथा छात्र छात्राओ का भी आभार व्यक्त किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *