इंडो-ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी मियामी मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट युगल का खिताब जीतकर रचा इतिहास…

0

नई दिल्ली। खेल का जुनून हो या करियर का उम्र महज एक नंबर बनकर रह जाता है। इसे सही साबित किया है भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ने । जो इन दिनों अपने करियर की बुलंदी पर हैं। वह लगातार एटीपी सर्किट में धमाल मचा रहे हैं। साथ ही अपना  44वां बर्थडे भी सेलिब्रेट किया है, रोहन बोपन्ना ने फ्लोरिडा के हार्ड रॉक स्टेडियम में मियामी मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट का युगल खिताब जीतकर इतिहास रच दिया है। उन्होंने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है। बोपन्ना एटीपी सर्किट पर मास्टर्स 1000 खिताब जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए हैं।

रोहन बोपन्ना और उनके ऑस्ट्रेलियन जोड़ीदार मैथ्यू एब्डन
रोहन बोपन्ना और उनके ऑस्ट्रेलियन जोड़ीदार मैथ्यू एब्डन

ऑस्ट्रेलियन जोड़ी के साथ मिलकर जीता मुकाबला

रोहन बोपन्ना और उनके ऑस्ट्रेलियन जोड़ीदार मैथ्यू एब्डन ने मियामी मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट के पुरुष युगल फाइनल में क्रोएशिया के इयान डोडिग और अमेरिका के ऑस्टिन क्राजिसेक की जोड़ी को टाइब्रेकर में खिंचे मुकाबले में 6-7, 6-3, 10-16 से हराकर जीत हासिल किया है । 44 साल की उम्र में उन्होंने इसके साथ ही इतिहास कायम किया। इस दौरान अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है।  इससे पहले उन्होंने फाइनल में पहुंचने वाले हमवतन लिएंडर पेस के रिकॉर्ड को ध्वस्त किया था। साथ ही बोपन्ना लिएंडर पेस के बाद सभी नौ एटीपी मास्टर्स 1000 इवेंट के फाइनल में पहुंचने वाले दूसरे भारतीय भी बने।

इससे पहले सेमीफाइनल में बोप्पना -एब्डन की जोड़ी ने स्पेन के मार्सेल ग्रानोलर्स और उनके अजेंटीनी जोड़ीदार होरासियो जेबालोस को 6-1, 6-4 से शिकस्त देकर फाइनल का टिकट कटाया। बोपन्ना ने पिछले साल इंडियन वेल्स मास्टर्स का खिताब केलिफोर्निया में एब्डेन के साथ जीता था। तब उनकी उम्र 43 साल थी। दोनों ने साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर इतिहास कायम किया था।


अपने करियर में छह एटीपी मास्टर्स खिताब जीते

मियामी ओपन फाइनल में, शीर्ष वरीयता प्राप्त बोपन्ना और एब्डेन ने एक सेट से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करते हुए दूसरी वरीयता प्राप्त की अमेरिकी ऑस्टिन क्राजिसेक और क्रोएशिया के इवान डोडिग के खिलाफ 6(3)-7(7), 6-3, 10-6 से जीत हासिल की। यह मैच एक घंटे 43 मिनट तक चला। यह बोपन्ना और एब्डेन की जोड़ी के रूप में दूसरा एटीपी मास्टर्स 1000 खिताब जीता, उन्होंने 2023 में इंडियन वेल्स टूर्नामेंट जीता था। बोपन्ना ने अपने शानदार करियर में अब तक छह एटीपी मास्टर्स खिताब जीते हैं। मियामी ओपन जीतने के बाद बोपन्ना और एब्डेन का 2024 सीज़न का रिकॉर्ड 14-3 हो गया है। इस दौड़ में इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियन ओपन 2024 का खिताब जीतना भी शामिल है।

मियामी ओपन खिताब जीतने वाले चौथे भारतीय खिलाड़ी बने

लिएंडर पेस, महेश भूपति और सानिया मिर्जा के बाद बोपन्ना मियामी ओपन खिताब जीतने वाले चौथे भारतीय खिलाड़ी हैं। “यह बहुत ही शानदार है। जब तक आप इन बड़े इवेंट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, हम इसी के लिए खेलते हैं। साथ ही रोहन बोपन्ना ने कहा कि  “मैं मास्टर्स 1000 और ग्रैंड स्लैम में अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं। उस रिकॉर्ड को जारी रखना है।” यह उनका 63वां एटीपी टूर लेवल फाइनल था ।

बता दें कि रोहन बोपन्ना और मैथ्यू एब्डेन की जोड़ी ने इस साल के शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया ओपन जीतकर मेलबर्न में इतिहास रचा था। 44 साल के रोहन बोपन्ना मेंस डबल्स की रैंकिंग में नंबर 1 पर आ गए थे। बोपन्ना और एब्डेन इस साल अब तक तीन फाइनल खेल चुके हैं, जिसमें से उन्हें 2 में जीत हासिल हुई है। उन्होंने पिछले साल इंडियन वेल्स मास्टर्स का खिताब केलिफोर्निया में एब्डेन के साथ जीता था। उस समय वह 43 साल के थे। लेकिन अब 44 की उम्र में रोहन बोपन्ना ने मियामी ओपन अपने नाम कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *