दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए आईआईटी चेन्नई ने बनाया नियोस्टैंड कॉम्पैक्ट स्टैंडिंग व्हीलचेयर…

0

चेन्नई । दिव्यांगजनों को अपने हर छोटे काम के लिए किसी की मदद लेने की आवश्यकता नही होगीं । क्योंकि आईआईटी मद्रास के सेंटर फॉर रिहैबिलिटेशन रिसर्च एंड डिवाइस डेवलपमेंट की प्रोफेसर सुजाता श्रीनिवासन की अध्यक्षता में विशेषज्ञों ने स्वदेशी इलेक्ट्रिक स्टैंडिंग व्हीलचेयर  तैयार किया है जिसका नाम नियोस्टैंड रखा गया है ।

नियोस्टैंड व्हीलचेयर क्या है ?

नियोस्टैंड एक कॉम्पैक्ट स्टैंडिंग व्हीलचेयर है । इसके मोटराइज्ड स्टैंडिंग मैकेनिज्म के लिए नेविगेशन को आसान बनाया गया है । व्हीलचेयर पर बैठा व्यक्ति एक बटन दबा कर आसानी से खुद खड़ा हो सकता है । व्हीलचेयर पर खड़े होकर वह व्यक्ति कई तरह के काम कर सकता है। इस प्रोजेक्ट का विकास प्रोफेसर सुजाता श्रीनिवासन के नेतृत्व में किया गया।


आईआईटी मद्रास में टीटीके सेंटर फॉर रिहैबिलिटेशन रिसर्च एंड डिवाइस डेवलपमेंट की प्रमुख सुजाता श्रीनिवास हैं। जिसने भारत के पहले मैनुअल स्टैंडिंग व्हीलचेयर एराइज और व्हीलचेयर के लिए देश के पहले मोटराइज्ड ऐड-ऑन नियोबोल्ट का विकास इनके मार्गदर्शन में किया गया है । इस उपकरण का सफलतापूर्वक व्यवसायीकरण किया गया है और आईआईटी मद्रास में इनक्यूबेट किया गया । साथ ही स्टार्ट-अप नियोमोशन के माध्यम से यह बाजार में पहुंचाया जाएगा।

कितनी है कीमत ?

आईआईटी मद्रास के निदेशक प्रोफेसर वी कामकोटि ने व्हीलचेयर को लॉन्च करते हुए कहा, नियोस्टैंड को दिव्यांगजनों की समस्याओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। इसके माध्यम से दिव्यांगजन लंबे समय तक बैठ सकते हैं और जब चाहें आराम से खड़े हो सकते हैं। जिसमें मद्रास इनक्यूबेट स्टार्टअप नियोमोशन ने इसकी कीमत 90 हजार रखी है । ‘नियोस्टैंड पूरी तरह यूजर का ध्यान रखते हुए डिजाइन किया गया है । यह व्हीलचेयर का अभूतपूर्व अनुभव देने वाला है। वे लंबे समय तक बैठ सकते हैं और जब चाहें आराम से खड़े हो सकते हैं। इससे अन्य स्वास्थ्य समस्याएं होने का खतरा भी बहुत कम हो जाएगा। यह कॉम्पैक्ट है इसलिए कम जगह में भी आसानी से चलेगा ।

उन्होंने आगे कहा कि इससे कहीं भी पहुंचना आसान होगा। आराम से बैठने और आसानी से खड़े होने के बीच रुकने का भी विकल्प होगा. इस इनोवेशन से यूजर की जिन्दगी आसान होगी और सामाजिक मेल-जोल बढ़ जाएगा। यह एक कॉम्पैक्ट स्टैंडिंग व्हीलचेयर है। इसके मोटराइज्ड स्टैंडिंग मैकेनिज्म के लिए नेविगेशन आसान बनाया गया है। व्हीलचेयर पर बैठा व्यक्ति एक बटन दबा कर आसानी से खुद खड़ा हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *