June 23, 2024

आसियान फेलोशिप योजना : 65 छात्रों का चयन, करेंगे आईआईटी में पीएचडी…

0

देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आसियान देशों और भारत के लोगों के बीच संपर्क एवं सहयोग बढ़ाने की पहल के द्वारा आसियान फेलोशिप योजना का ऐलान किया था। बता दें अब तक तीन राउंड में इस योजना के द्वारा 65 छात्रों का चयन किया गया है। तीन सालों में आसियान देशों के 65 मेधावी छात्रों को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में पीएचडी करने के लिए फेलोशिप के लिए चयन किया है। इसमें से वैश्विक महामारी कोरोना के चलते 35 छात्र ऑनलाइन माध्यम से जुड़े हैं। जबकि अन्य छात्रों ने नामांकन के बाद इसमें शामिल होना स्थगित कर दिया या छोड़ दिया।

_Advertisement_

Read More:-सास्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हुआ श्री रविशंकर जी महाराज का 54 वां प्राकट्य महोत्सव…

शिक्षा मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग ने राज्यसभा सदस्य विनय सहस्रबुद्धे की अध्यक्षता वाली शिक्षा, महिला, बाल, युवा एवं खेल संबंधी संसद की स्थायी समिति को रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। यह रिपोर्ट सोमवार को राज्यसभा के सभापति को पेश की गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, समिति को बताया गया है कि अब तक तीन राउंड में इस योजना के द्वारा 65 छात्रों का चयन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आसियान देशों और भारत के लोगों के बीच संपर्क एवं सहयोग बढ़ाने की पहल के द्वारा आसियान फेलोशिप योजना का ऐलान किया थी ।

_Advertisement_

Read More:-श्री रविशंकर जी महाराज का मनाया गया 54 वां प्राकट्य महोत्सव, लोकसभा के संसद विजय बघेल हुए शामिल…

पीएम के एलान के बाद वर्ष 2019 में इसकी शुरूआत की गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, इस योजना के द्वारा आसियान देशों के छात्रों को देश में 1000 पीएचडी फैलोशिप देने की व्यवस्था की गई है। ये फैलोशिप देश के सभी 23 आईआईटी संस्थानों में मुहैया होंगी। इसके लिए सात वर्षो में 300 करोड़ रुपये खर्च किये जाने का प्रावधान किया गया है। इस योजना के द्वारा दाखिल छात्रों के लिये फेलोशिप, भारतीय छात्रों के समान दर पर वार्षिक शोध अनुदान के साथ प्रदान की जाती है।

_Advertisement_

आईआईटी अपने स्वयं के संसाधनों से चयनित छात्रों के रहने की व्यवस्था करती है। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री शोध फेलोशिप के बारे में उच्च शिक्षा विभाग ने सूचित किया कि 7 फरवरी 2018 को इस योजना को मंत्रिमंडल से मंजूरी मिलने के बाद से अब तक 1509 अध्येताओं को इस योजना के द्वारा फेलोशिप दी गई है।

Read More:-SRGOI : आरी झांसी में भव्य रूप से मनाया जाएगा संत शिरोमणि श्री रविशंकर जी महाराज का प्राकट्य उत्सव और संस्थान का स्थापना दिवस…

 

resistration open 2022-23


 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *