June 21, 2024

SRU: प्रथम दीक्षांत समारोह में शामिल हुए राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष,प्रदेश शिक्षा मंत्री, खाद्य योजना एवं संस्कृति मंत्री के साथ सांसद, डिग्री पाकर खिले छात्रों के चेहरे…

0
convocation

रायपुर ।। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में 1 जुलाई शुक्रवार को प्रथम दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया । दीक्षांत समारोह में छत्तीसगढ़ प्रदेश की महामहिम राज्यपाल एवं विश्वविद्यालय की कुलाध्यक्ष सुश्री अनुसुइया उइके शामिल हुई। प्रथम दीक्षांत समारोह श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री रविशंकर महाराज जी के आशीर्वाद से विश्वविद्यालय परिसर के गोविंदा कल्याण मण्डपम में आयोजित किया गया।

_Advertisement_

Read More:-Result : B.Sc. नर्सिंग तृतीय वर्ष का रिजल्ट जारी, एस आर यू के 94% छात्रों को मिली सफलता…

 

_Advertisement_

_Advertisement_


 

Read More:-फ्रेशर पार्टी : रैंपवॉक, स्पलैशिंग डांस, गेम्स के साथ हुआ “फ्रेशर पार्टी”…

दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार, विशिष्ट अतिथि केंद्रीय राज्य मंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय एवं जल शक्ति विभाग प्रहलाद सिंह पटेल उपस्थित रहे। साथ ही विशेष अतिथि विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत ,खाद्य योजना एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत, स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, भिण्ड सांसद संध्या राय, रायपुर सांसद सुनील कुमार सोनी शामिल हुए।


 

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों ने “विश्व योग कप” प्रतियोगिता में जीता पदक, विश्वविद्यालय को किया गौरवान्वित…

विश्वविद्यालय द्वारा प्रथम दीक्षांत समारोह में पद्म विभूषण डॉ. के कस्तूरीरंगन, पदम् श्री वैद्य राजेश कोटेचा, न्यायधीश (सेनानिवृत्त) श्री अशोक भूषण, पद्म विभूषण डॉ. तीजन बाई को मानद उपाधि प्रदान की गई।

सभा को संबोधित करते हुए महामहिम राज्यपाल ने कहा की,श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में शामिल होने पर मुझे अत्यधिक आनंद की अनुभूति हो रही है। निश्चित ही गुरुकुल परंपरा को आत्मसात करते हुए यह विश्वविद्यालय आधुनिक ज्ञान की तरफ अग्रसर है। इस विश्वविद्यालय का सुरम्य नैसर्गिक एवं आध्यात्मिक वातावरण यहाँ अध्ययन एवं अध्यापन का एक बेहतर वातावरण निर्मित करता है। इस प्राकृतिक और आध्यात्मिक वातावरण में दीक्षित होकर निकले विद्यार्थियों को मेरी ओर से बहुत-बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएं। आज दीक्षा उपाधि पाने वाले सभी विद्यार्थियों से मेरा आग्रह है कि वे देश के विकास में अपनी सक्रिय भागीदारी का निर्वहन करते हुए अपना, अपने परिवार एवं अपने गुरुजनों का नाम रोशन करें, और साथ ही ये सत्य के मार्ग पर चलते हुए यश और प्रतिष्ठा अर्जित करें।


 

वहीँ वही मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार ने सभा मे उपस्थित न हो पाने पर अपना वीडियो सन्देश देते हुए कहा कि, श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय रायपुर के लिए आज का यह प्रथम दीक्षान्त समारोह बहुत ही महत्वपूर्ण आयोजन है। इस आयोजन के माध्यम से यह विश्वविद्यालय आज शिक्षा जगत में अपनी प्रतिभा एवं प्रतिष्ठा का मंगल शंखनाद कर रहा है। दीक्षान्त समारोह का यह क्षण पुरषार्थ से परमार्थ की साधना का साक्षी बनने जा रहा है। अनंत विभूषित श्री रविशंकर जी महाराज श्री रावतपुरा सरकार की लोक कल्याण की भावना का बीजरूप संकल्प आज साकार रूप धारण करने जा रहा है। आज इस विश्वविद्यालय के आचार्यों एवं विद्यार्थियों की शाश्वत साधना फलीभूत, समलकृत एवं समादृत होने जा रही है। आज के इस दीक्षांत समारोह में उन प्रतिभाओं को सम्मानित किया जा रहा है, जिन्होंने अपने प्रखर पुरुषार्य से सफलता के नित नवीन कीर्तिमान स्थापित किये है आज का यह भव्य दीक्षांत समारोह पुरस्कृत हो रहे विद्यार्थियों के परिश्रम, प्रतिभा एवं पुरुषार्थ को विश्व पटल पर स्थापित करने का माध्यम है।

Read More:-सीजी व्यापम: एमएससी नर्सिंग और पोस्ट बेसिक नर्सिंग की प्रवेश परीक्षा 3 जुलाई को आयोजित, कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करना अनिवार्य…

श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री रविशंकर महाराज जी ने कहा की, प्रथम दीक्षांत समारोह के अवसर पर मंच में आसीन सम्माननीय अतिथियों, विश्वविद्यालय परिवार के सदस्यों, उपाधियां लेने वाले और वर्तमान में अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों को देख कर मन गदगद हो गया है। एक ऐसा भाव उमड़ रहा है जैसे अपने परिवार के समस्त सदस्यों को पाकर एक माँ भाव अभिभूत हो जाती है। इस विश्वविद्यालय की स्थापना 2018 में हुई और इसकी स्थापना का उद्देश्य शिक्षा और विद्या को साथ लेकर एक ऐसा वातावरण बनाना था जहां विद्यार्थी तकनीकी शिक्षा को सीखे, विज्ञान को समझें, आधुनिक विषयों को भी जाने साथ ही साथ धर्म, संस्कृति, मानवता और अध्यात्म को भी अपने जीवन में स्थान दे। विद्यार्थी अपने जीवन में आधुनिकता को तो लाए साथ ही भारतीय संस्कृति को भी न भूले। यही इस विश्वविद्यालय की स्थापना का उद्देश्य रहा है। इसलिए इस परिसर में अलग-अलग विषयों की प्रयोगशालाएं बनाए गए, तो साथ ही यज्ञशाला, गौशाला भी दिखाई देते हैं। यहां हमेशा वैदिक मंत्रों का उच्चारण सुनाई देता है। इन्हीं विशेषताओं के साथ यह परिसर विकसित होता गया और आज हमसब पहला दीक्षांत समारोह मना रहे हैं।


 

Read More:-सीजी व्यापम: एमएससी नर्सिंग और पोस्ट बेसिक नर्सिंग की प्रवेश परीक्षा 3 जुलाई को आयोजित, कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करना अनिवार्य…

बता दें की श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में विश्वविद्यालय में सत्र 2018, 2019, एवं 2020 में अध्यनरत विद्यार्थियों को उपाधियाँ दी गई, जिसमें 1040 उपाधि और 25 स्वर्णपदक से छात्रों को सम्मानित किया गया।

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे.के. उपाध्याय ने विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति हर्ष गौतम और कुलपति प्रो. डॉ.एस.के सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह और सभी शैक्षणिक, अशैक्षणिक स्टाफ के साथ उपाधि धारक छात्रों को प्रथम दीक्षांत समारोह के लिए के लिए बधाई दी एवं छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की…

Read More:-नर्सिंग कॉलेज कुम्हारी में अग्नि शामक दल की एक दिवसीय कार्यशाला, दुर्घटनाओं से बचने दी जानकारी…

resistration open 2022-23


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े