June 23, 2024

आठ साल के बच्चे ने यमुना नदी को महज 18 मिनट में तैरकर पार कर बनाया रिकॉर्ड…

0

उत्तर प्रदेश के 8 साल के शिवांश मोहिले ने यमुना नदी को सिर्फ 18 मिनट में तैरकर पार कर एक नया रिकॉर्ड दर्ज किया है। बता दें की इस महीने की शुरुआत में आराध्या श्रीवास्तव ने 22 मिनट में नदी (करीब 250 मीटर) पार की थी। हालांकि, शिवांश ने अपने प्रशिक्षकों को चौंका दिया जिन्होंने अपने आयु वर्ग के अन्य लड़कों की तुलना में कम समय में नदी पार करने के उनके प्रयासों और दृढ़ संकल्प की सराहना की।

_Advertisement_

Read More:-विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क ने मंकीपॉक्स को घोषित किया महामारी, डब्ल्यूएचओ से कहा- ग्लोबल एक्शन आवश्यक…

बता दें की 18 मिनट में तैरकर यमुना नदी पार करने वाला शिवांश मोहिले टैगोर पब्लिक स्कूल में कक्षा 2 में पढ़ते हैं। वह मीरापुर सिंधु सागर घाट से तैरकर नदी के दूसरी तरफ पहुँच गया। उनके प्रशिक्षक, त्रिभुवन निषाद ने कहा कि सिर्फ 18 मिनट में यमुना नदी पार करने के बाद लड़के ने अपने माता-पिता का नाम रोशन किया है। शिवांश ने अपने प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन में, मीरापुर सिंधु सागर घाट से सुबह 6 बजे तैरना शुरू किया और सुबह 6:18 बजे नदी को पार कर लिया।

_Advertisement_

शिवांश के प्रशिक्षक, त्रिभुवन निषाद ने बताया कि वर्तमान में सभी आयु वर्ग के 100 बच्चे नवजीवन स्विमिंग क्लब में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। इस बीच, निषाद ने बताया कि शिवांश इस साल 2 से 8 साल के आयु वर्ग के पहला प्रशिक्षु तैराक है, जिसने अपने इस कारनामे के लिए प्रशंसा हाशिल की है।
उन्होंने यह भी कहा कि अभ्यास के दौरान आपातकालीन सहायता के लिए पाँच नावें थीं।

_Advertisement_

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार विवि के प्रथम दीक्षांत समारोह में राज्यपाल होंगी शामिल…

शहरवासियों ने भी उनका स्वागत किया और उनके प्रयासों की सराहना की। ट्रेनर के अनुसार शिवांस टाइमिंग घटाने की जिद पर अड़े हैं। वह नियमित तौर पर प्रैक्टिस करते हैं। उन्होंने कहा कि तैरना सब जानते हैं, लेकिन मन से डर और तरीका नहीं पता होता। ट्रेनिंग में हम बच्चों और युवाओं को इसके तरीके बताते हैं यही वजह है कि तैरना वह आसानी से सीख जाते हैं। तैराकी से पूरी तरह अनजान बालक या युवा महीने भर में बहते पानी पर लेटना शुरू कर देते हैं।

Read More:-काव्या ने ऑल इंडिया डांस प्रतिस्पर्धा में स्थान प्राप्त कर विद्यालय को किया गौरवान्वित…

 

 

resistration open 2022-23


 

Read More:-असिस्टेंट प्रोफेसर का शोध अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रकाशित…

 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *