June 21, 2024

छत्तीसगढ़: देश की नंबर-1 वेटलिफ्टर ज्ञानेश्वरी, वेटलिफ्टिंग में जीता सोना, मीराबाई चानू को दी टक्कर…

0

प्रदेश की वेटलिफ्टर ज्ञानेश्वरी यादव ने बड़ा कारनामा कर प्रदेश का भी नाम रोशन किया है। हिमाचल प्रदेश के नगरोटा में चल रहे नेशनल वेटलिफ्टिंग रैंकिंग चैंपियनशिप में सोना जीतकर ज्ञानेश्वरी 49 किलोग्राम भारवर्ग में देश की नंबर-1 वेटलिफ्टर बन गई हैं। ज्ञानेश्वरी सीनियर वर्ग में भी मैदान में उतरीं। वहां उसने टोक्यो ओलिंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट साखोम मीराबाई चानू को टक्कर दी।

_Advertisement_

join whatsapp

_Advertisement_

 

_Advertisement_

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार इंटरनेशनल स्कूल कुम्हारी में कैरियर गाइडेंस काउंसलिंग प्रोग्राम…

बता दें गुरुवार को खेले गए मुकाबले में सीनियर वर्ग में ओलिंपिक पदक विजेता मीराबाई चानू ने 49 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। चानू ने स्नैच और क्लीन एंड जर्क में 191 किलो भार उठाया। स्नैच के प्रथम प्रयास में चानू ने 86 किलो और क्लीन एंड जर्क में 105 किलो भार उठाया। ज्ञानेश्वरी यादव ने इस प्रतियोगिता में रजत पदक पर कब्जा किया। वहीं आरएसपीबी की ढिली डालावहरा ने कांस्य पदक जीता। इसी भार वर्ग में जूनियर वर्ग की स्पर्धा में ज्ञानेश्वरी ने स्वर्ण पदक जीता। इस वर्ग में मणिपुर की संजू देवी ने रजत और तमिलनाडु की रितिका ने कांस्य पदक प्राप्त किया। हाल ही में आयोजित खेलो इंडिया यूथ गेम्स में ज्ञानेश्वरी यादव ने 164 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक प्राप्त किया था।


गौरतलब हैं की ज्ञानेश्वरी ने एक से 10 मई 2022 तक ग्रीस के हेराक्लिओन शहर में आयोजित जूनियर वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चौंपियनशिप में 49 किलो वर्ग के स्नेच, क्लीन एंड जर्क स्पर्धा में 156 किलोग्राम वजन उठाकर तीन सिल्वर मेडल जीता था। ऐसा करने वाली वे छत्तीसगढ़ की पहली महिला वेटलिफ्टर बन गईं, जिसने विदेशी धरती पर जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेडल प्राप्त किया।

Read More:-कोरोना के कारण रुकी हर 10 साल में होने वाली देश की जनगणना, छत्तीसगढ़ को नए जिलों और तहसीलों के लिए मिला समय…

बता दें की खेलो इंडिया गेम्स के लिए रवाना होने से पहले ज्ञानेश्वरी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात की थी। उस दौरान मुख्यमंत्री ने इस उदीयमान खिलाड़ी की उपलब्धियों की प्रशंसा की थी। उन्होंने छत्तीसगढ़ पुलिस में ASI पद पर नियुक्ति देने की घोषणा भी की। इसके साथ खेल की तैयारी के लिए ज्ञानेश्वरी को पांच लाख रुपए की सहायता भी दी। ज्ञानेश्वरी के कोच को भी पांच लाख रुपए की मदद की घोषणा की गई थी।

Read More:-Corona : प्रदेश में फिर नये मामले, स्वास्थ्य मंत्री ने सर्तक रहने की अपील…


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े