June 24, 2024

क्या 29 फरवरी के बाद पे‍टीएम ऐप काम करेगा या नहीं जानें पूरी ख़बर…

0

मुंबई । आजकल चाहे बड़े हो या छोटे हर तरह के पेमेंट के लिए डिजिटल पेमेंट करने के का प्रचलन बढ़ता जा रहा है । अगर आप भी है पेटीएम यूजर्स तो बता दे की 29 फरवरी के बाद पेटीएम काम करेगा या नही । आरबीआई के एक्‍शन के बाद अगर आपके मन में पेटीएम ऐप को लेकर ये संशय है तो अब आपके इस संशय को पेटीएम फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने दूर कर दिया है। उन्‍होंने इस संबन्‍ध में सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म X पर पोस्‍ट के जरिए यूजर्स को जानकारी दी है।

_Advertisement_

_Advertisement_

पेटीएम फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म X पर लिखा- ‘ आपका पसंदीदा ऐप काम कर रहा है, 29 फरवरी के बाद भी हमेशा की तरह काम करता रहेगा । मैं पेटीएम टीम के प्रत्येक सदस्य के साथ आपके अथक समर्थन के लिए आपको सलाम करता हूं। हर चुनौती का एक समाधान है और हम पूर्ण अनुपालन में अपने राष्ट्र की सेवा करने के लिए ईमानदारी से प्रतिबद्ध हैं। भारत भुगतान नवाचार और वित्तीय सेवाओं में समावेशन में वैश्विक प्रशंसा जीतता रहेगा – इसका सबसे बड़ा चैंपियन होगा ।

_Advertisement_

क्या है वजह पेटीएम पर कार्रवाई करने का

रिजर्व बैंक ने पेटीएम पर नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई की है। इसके तहत नए ग्राहक जोड़ने पर पाबंदी लगाई गई है। बता दे कि सेंट्रल बैंक ने 1 मार्च से नए डिपॉजिट और टॉपअप पर भी रोक लगा दी है। साथ ही वॉलेट, फ़ास्टैग  और मोबिलिटी कार्ड टॉपअप पर भी बैन लगा दिया है। हालांकि, बाकी ग्राहकों के पैसे निकालने पर कोई रोक नहीं है। साथ ही वॉलेट, फ़ास्टैग, कार्ड में पड़े पैसे इस्तेमाल हो सकेंगे। लेकिन उस पर पैसे डिपॉजिट नही कर पाएंगे । आरबीआई के डिप्टी गवर्नर ने कहा कि फिनटेक पेटीएम के खिलाफ कार्रवाई लगातार नियमों का अनुपालन नहीं करने के कारण की गयी है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी आरबीआई ने 31 जनवरी को एक बड़ा फैसला लिया। इसके तहत रिजर्व बैंक ने पेटीएम पेमेंट बैंक के खिलाफ एक्शन लेते हुए उस पर बैन लगा दिया। आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड को किसी भी कस्टमर अकाउंट, प्रीपेड साधन, वॉलेट एवं फास्टैग में 29 फरवरी, 2024 के बाद डिपॉजिट या टॉप-अप स्वीकार नहीं करने का निर्देश दिया है। ऐसे में जो यूजर पेटीएम के बैंक अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे थे उनकी समस्या बढ़ गई है।

पेटीएम ऐप नहीं पड़ेगा प्रभाव

आरबीआई ने साफ तौर पर कहा है कि 29 फरवरी के बाद पेटीएम ऐप बंद नहीं होगा । भारतीय रिजर्व बैंक को कहा कि नियामकीय कार्रवाई पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ हुई है और पेटीएम ऐप इससे प्रभावित नहीं होगा ।आरबीआई के डिप्टी गवर्नर स्वामीनाथन ने मौद्रिक नीति समिति की बैठक के बाद कहा, ”एक स्पष्टीकरण देना है, यह विशेष कार्रवाई पेटीएम पेमेंट्स बैंक के खिलाफ है और इसे पेटीएम ऐप के साथ न जोड़ें.पेटीएम ऐप पर इस कार्रवाई का प्रभाव नहीं पड़ेगा ।”

यह पूछने पर कि क्या दूसरे बैंक पेटीएम वॉलेट के साथ साझेदारी कर सकते हैं, इसपर उन्होंने कहा कि यह एक व्यावसायिक निर्णय है और बैंकों को अपने डायरेक्टर बैंक से मंजूरी प्राप्त नीति के अनुरूप जरूरी प्रक्रिया पूरी करनी होगी। उन्होंने कहा, ”मुझे पूरा भरोसा है कि अगर उन्हें साझेदारी करनी है, तो वे जरूरी प्रक्रिया को पूरा करेंगे।” डिप्टी गवर्नर स्वामीनाथन जे ने कहा कि फिनटेक पेटीएम के खिलाफ कार्रवाई लगातार नियमों का अनुपालन नहीं करने के कारण की गयी है।

आरबीआई द्विपक्षीय आधार पर संस्थाओं के साथ काम करता है। उन्हें पर्याप्त समय देकर नियमों के अनुपालन के लिए प्रोत्साहित करता है। निगरानी स्तर पर कार्रवाई तभी की जाती है, जब संबंधित इकाई द्वारा जरूरी कदम नहीं उठाए जाते हैं। कहा, ‘‘जब विनियमित इकाई (बैंक और एनबीएफसी) प्रभावी कार्रवाई नहीं करती हैं ।

UPI सर्विस व पेटीएम पेमेंट्स बैंक का क्या होगा

  • पेटीएम ब्रांड की पेरेंट कंपनी One97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड है।
  • इसका एक एसोसिएट बैंक भी है, पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड।
  • पेटीएम पेमेंट बैंक के जरिए पेटीएम ऐप पर सर्विसेज मिलती है।
  • पेटीएम पेमेंट बैंक में One97 कम्युनिकेशंस की 49% हिस्सेदारी है।

RBI ने जो रोक लगाई है वो पेटीएम पेमेंट बैंक पर लगाई है। पेटीएम अपनी कई सारी सर्विस इस बैंक के जरिए ही देता है। ऐसे में जो सर्विसेज पेटीएम पेमेंट्स बैंक के जरिए मिलती है वो 29 फरवरी 2024 के बाद बंद हो जाएंगी, जबकि अन्य सर्विसेज पहले की तरह चलती रहेंगी।

पेटीएम अपनी UPI सर्विस पेटीएम पेमेंट बैंक के जरिए ही देता है। इसलिए दूसरे बैंकों के साथ टाई-अप नहीं होने की स्थिति में 29 फरवरी के बाद UPI सर्विस भी बंद हो जाएगी। पेटीएम ने बताया है कि उसकी NPCI और RBI दोनों के साथ इसे लेकर चर्चा चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *