July 13, 2024

SRU : धूमधाम से मनाया गया गुरु पूर्णिमा का पर्व, गुरु की आस्था और भजन में सभी दिखे लीन…

0

रायपुर।। गुरु हमे अंधेरे से उजाले की ओर बढ़ने का रास्ता दिखाते हैं। भारतीय संस्कृति में गुरु का महत्व,सम्मान, सच्ची निष्ठा और समर्पण का भाव हमेशा रहता आया है। वेदों की रचना और शिक्षा देने वाले महर्षि वेदव्यास को हिंदू धर्म में प्रथम गुरु का दर्जा दिया गया है। यही वजह हैं कि हर वर्ष आषाढ़ पूर्णिमा के दिन को व्यास पूर्णिमा के रूप में भी मनाया जाता है।


Read More:-जानिए श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में कैसे मनाया जायेगा गुरूपूर्णिमा पर्व…

इस शुभ अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में गुरु की आस्था और निष्ठा के साथ आज “गुरुपूर्णिमा पर्व” मनाया गया। इस उत्सव का प्रारंभ विवि में सुबह 05:00 बजे ब्रह्म मुहूर्त में श्री सदगुरू देव भगवान के पादुका पूजन और अभिषेक से की गई। इसके बाद 9 बजे गुरु की महिमा में प्रार्थना और 10 बजे रामार्चन पूजन अनुष्ठान किया गया। प्रसादी वितरण किया गया। इसके के साथ ही सायंकालीन बेला में सत्यनारायण की कथा की गई। शाम 6 बजे सायंकालीन प्रार्थना एवं ललितासहस्त्रार्चन कार्यक्रम किया गया और पौधा रोपण भी किया गया।



गुरुपूर्णिमा के इस पावन अवसर पर श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस. के. सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह एवं समस्त डीन, एचओडी, शिक्षक और विद्यार्थी शामिल हुए।

Read More:-CGPSC: होम्योपैथी चिकित्सा अधिकारी, सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, दंत शल्य चिकित्सक एवं निरीक्षक वाष्पयंत्र के पदों पर भर्ती चयन परीक्षा, देंखे परीक्षा केंद्र…

 


 

Read Moreमौसम अपडेट : देश के कई राज्यों में भारी बारिश के कारण मची तबाही, गुजरात और एमपी में हाहाकार, अब तक 148 की गई जान…

गुरुपूर्णिमा पर्व के इस पावन अवसर पर विवि के कुलाधिपति श्री सदगुरू श्री रविशंकर महाराज जी ने जीवंत प्रसारण के माध्यम विवि के सभी सदस्यों को अपना आशीर्वाद दिया। उन्होंने कहा की सभी गुरु शिक्षा को छात्रों तक ना सिर्फ पहुँचते हैं बल्कि उन्हें सही दिशा भी दिखते हैं, जीवन में सही दिशा में चलने के लिए प्रेरित करते हैं। इसके साथ ही सभी से कहा की जीवन में अच्छा काम करें और अच्छा इंसान बने। सभी को संदेश के माध्यम से अपने घर के अपने आस-पास वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित किये।


 

इस मौके पर विवि के कुलपति डॉ. एस. के. सिंह ने अपने सभी गुरुओं को याद करते हुए उन्हें नमन किया और कार्यक्रम में उपस्थित सभी सदस्यों को गुरुपूर्णिमा की शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही उन्होंने गुरु की महत्वता को बताते हुए कहा की “गुरु की महिमा को समझना अत्यंत आवश्यक हैं गुरु व्यक्त नहीं गुरु तत्व हैं और तत्व को समझने की आवश्यकता होती हैं तत्व के गुणों को और महिमा को हम शब्दों से बांध नहीं सकते। उन्होंने “गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः। गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः” श्लोक के माध्यम बताया की हमारा भारतीय इतिहास गुरु की महिमा के वर्णन से भरा हुआ हैं जिससे हम गुरु महिमा को महसूस कर सकते हैं।”

वहीं विवि के कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह ने गुरुपूर्णिमा के इस अवसर पर श्री रविशंकर महाराज जी को नमन करते हुए सभी सदस्य गणों को शुभकानाएं दी और गुरु के प्रति अपने विचार साझा किये।


 

Read More:-नवोदय विद्यालय समिति ने टीचिंग स्टाफ पदों के लिए जारी किया आवेदन, प्रधानाचार्य, स्नातकोत्तर शिक्षक, ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर आदि पदों पर भर्तियां…

कार्यक्रम में गुरुओं के सम्मान और आदर के लिए श्लोक और भजन की भी प्रस्तुति की गई। इसके साथ ही सभी ने गुरूपूर्णिमा पर अपने अपने गुरुओं को याद किया और गुरु के प्रति अपनी आस्था व्यक्त की।

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय ने श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति प्रो. डॉ.एस.के सिंह और कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह के साथ सभी शैक्षणिक एवं अशैक्षणिक स्टाफ एवं छात्रों को इस सफल गुरुपूर्णिमा कार्यक्रम के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की…


 


 


 

_Advertisement_
_Advertisement_
_Advertisement_

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े