छत्तीसगढ़ के जवानों को मिलेगा रुसी साइलेंट एके-47 इलेक्ट्रॉनिक फायरिंग वेपन, नाईट विज़न डिवाइस…

0

छत्तीसगढ़ पुलिस आधुनिक हथियार खरीदने जा रही है । जिसमे 60 साइलेंसर वाली एके 47 इलेक्ट्रॉनिक फायरिंग वेपन, नाईट विज़न डिवाइस और टेलिस्कोप शामिल है। सशस्त्र बलों को 2  महीने भीतर इस हथियारों से लैस किये जायेंगे । इजराइल से 2019  में छत्तीसगढ़ ने काफी हथियार खरीदें है लेकिन अब केंद्र सरकार ने रूस के साथ नया अनुबंध करते हुए कार्य किया जा रहा है।

1 मिनट में 600 गोलियां करेगी फायर

पुलिस ने जिस एके-47 साइलेंसर राइफल ख़रीदने क्र लिए टेंडर दिया है वह पूरे विश्व में सबसे ख़तरनाक माना जा रहा है। रूस की इस राइफल से गोली चलाने पर आवाज़ नही के बराबर होगा । साथ ही एक सेकंड में 10 और 1 मिनट में 600 गोलियां फायर करने की क्षमता रखती है । गोली 780 मीटर प्रति सेकंड की गति से चलती है । 700 मीटर तक इसकी मारक क्षमता होगी ।


1947 में तैयार हुई थी यह राइफल

सामान्यत: इसे ही कलाश्निकोव से भी बुलाया जाता है। चूंकि यह राइफल बनकर 1947 में तैयार हुई थी। इसलिए इसके नाम के आगे “47” जोड़ दिया गया। जबकि मिखाइल कलाश्निकोव रूसी फौज के सीनियर सार्जेंट थे, जिनके नाम पर इसका नामकरण हुआ। अगर बात इस राइफल की इंजीनियरिंग की करें तो पता चलता है कि यह एक, ऑटोमैटिक सेंटिंग के भीतर 600 राउंड गोलियां चलाने की क्षमता रखती है। जबकि सेमी ऑटो मोड में इससे 40 गोलियां प्रति मिनट छोड़ी जाती हैं। इसकी मारक क्षमता (रेंज) 300 से साढ़े तीन सौ मीटर है।

अँधेरे में भी रखेगी नज़र

दुश्मनों पर नजर रखने के लिए हाईटेक नाइट विजन डिवाइस खरीदी जाएगी । यहाँ की सेना अभी बॉर्डर पर इसका इस्तेमाल करती है। जिसके इस्तेमाल के लिए भी खास तरह के ट्रेनिंग की आवश्यकता पड़ती है ।जवानों को ट्रेनिंग के लिए इलेक्ट्रॉनिक फायरिंग वेपन सिम्युलेटर भी ख़रीदा जा रहा है । जिसमे बुलेट की जगह लेजर निकलती है । जिसके लिए दो तरह के इलेक्ट्रॉनिक रायफल ख़रीदने की टेंडर जरी किये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े