July 23, 2024

महाराष्ट्र की पहली महिला DGP बनी IPS रश्मि शुक्ला…

0

आईपीएस रश्मि शुक्ला महाराष्ट्र की पहली महिला DGP बन गई हैं। 31 दिसंबर 2023 को IPS रजनीश सेठ के रिटायर्ड होने के बाद महाराष्ट्र सरकार ने रश्मि शुक्ला को पुलिस महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया । उनकी छवि महाराष्ट्र में एक्टिव लेडी ऑफिसर के रूप में जानी जाती  है।

रश्मि शुक्ला की जीवनी

आईपीएस  रश्मि शुक्ला का जन्म 15 अगस्त 1965 को मुंबई में हुआ था। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जेवियर्स हाई स्कूल मुंबई से पूरी की है। उन्होंने अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री एल्फिंस्टन कॉलेज मुंबई से और समाजशास्त्र में स्नातकोत्तर की डिग्री मुंबई विश्वविद्यालय से प्राप्त की थी। उन्होंने 1988 में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण की और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) में शामिल हुईं। उन्हें महाराष्ट्र कैडर आवंटित किया गया था।उनके पति उदय शुक्ला भी आईपीएस थे, 2018 में 58 साल की उम्र में उनका निधन हो गया ।


UPSC पास करने से लेकर DGP  तक का सफ़र

1988 बैच की IPS ऑफिसर रश्मि शुक्ला मार्च 2023 में सशस्त्र सीमा बल (SSB) की DG चुनी गई थीं। इससे पहले वे पुणे पुलिस कमिश्नर, महाराष्ट्र में खुफिया विभाग की चीफ रह चुकी हैं। IPS शुक्ला को बीजेपी सरकार के करीबी के तौर पर देखा जाता था, इसलिए साल 2019 में महाविकास अघाड़ी (MVA) की सरकार आने के बाद उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ा। रश्मि शुक्ला महाराष्ट्र की पहली महिला डीजीपी बनीं हैं। इससे पहले वह पुणे पुलिस आयुक्त के रूप में सेवा दे चुकी हैं। साथ ही राज्य खुफिया विंग के निदेशक सहित कई प्रमुख पदों पर काम कर चुकी हैं। 2014 से लेकर 2019 तक रश्मि शुक्ला राज्य की प्रमुख IPS अधिकारी रही थीं। तब राज्य में भाजपा सरकार थी। उन्हें उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस का करीबी भी माना गया।

फोन टैपिंग केस में आया नाम

IPS शुक्ला पर एक गोपनीय रिपोर्ट लीक करने का भी आरोप लगा था, जिसमें कुछ पुलिस ऑफिसर और बिचौलियों के बीच सांठ-गांठ का खुलासा हुआ था। ये लोग पैसे के लिए ट्रांसफर और पोस्टिंग करते थे। रश्मि शुक्ला का नाम फोन टैपिंग कैस में भी आ चुका है। रश्मि शुक्ला पर आरोप लगे थे कि उन्होंने 2015 से 2019 के बीच शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं के फोन टैप करवाने के आदेश दिए थे। जिसके चलते रश्मि शुक्ला के खिलाफ 2021 और 2022 में में दो FIR दर्ज हुई थी। बॉम्बे हाईकोर्ट ने दोनों FIR को सितंबर 2023 में खारिज कर दिया था। रश्मि शुक्ला आईपीएस को महाराष्ट्र पुलिस की बागडोर संभालने का भी मौका मिला था।

पदक

रश्मि शुक्ला को साल 2004 और 2013 में उत्कृष्ट कार्य के लिए राष्ट्रपति से पदक भी मिल चुका है । इसके अलावा उन्हें कई और भी सम्मान मिल चुके हैं । वह मुंबई पुलिस कश्मिनर भी रह चुकी हैं। वह मुंबई की दूसरी महिला पुलिस कमिश्नर थीं।

  • 2004 में डीजीपी के लिए पदक चिन्ह दिया गया ।
  • 2005 में राष्ट्रपति का पुलिस पदक श्रेष्ठ सेवा के लिए सम्मानित किया गया ।
  • 2008 में मुंबई में आतंकवादी हमलों के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए भी पुरस्कार प्राप्त हुए।
_Advertisement_
_Advertisement_
_Advertisement_

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *