श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में मनाया गया अभियंता दिवस, भारतरत्न सर मोक्षगुण्डम विश्वेश्वरैया की प्रतिमा पर किया गया माल्यार्पण …

0

रायपुर।। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में 15 सितंबर को अभियंता दिवस के अवसर पर (इंजीनियर्स दिवस) कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें कुलाधिपति अनंत श्री विभूषित श्री रविशंकर जी महाराज ने अपनी कृपामयी उपस्थिति दी और उन्होंने भारतरत्न सर मोक्षगुण्डम विश्वेश्वरैया की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। कार्यक्रम में इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने अपनी रचनात्मकता दिखाई और संस्कृतिक लोक गीत एवं नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री तालिब ख्वाजा सेवानिवृत्त कार्यकारी निर्देशक आई.ओ.सी.एल. एवं श्री मनोज कुमार वर्मा अधिक्षण अभियंता रायपुर शहर वृत्त एवं महासचिव राज्य विद्युत अभियंता संघ उपस्थित हुए। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन और राज्यगीत से गई तत्प्श्चात स्वागत उद्बोधन में विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति श्री हर्ष गौतम ने विशिष्ट अतिथि का स्वागत किया और सभी को अभियंता दिवस बधाई दी। उन्होंने बताया की उनके पुराने सहकर्मी उनके साथीगण मनोज कुमार, ऐश्वर्या सोनी जी एवं ऋषि मसोर जिसने मेरे साथ अपने काम की शुरुआत की थी आज वो हमारे साथ इस यह उपस्थित है और इन्होने कैसे अपने जीवन में कई परेशानियों का सामना करते हुए सफलता प्राप्त की है उन्होंने बताया की मनोज कुमार जी ने कैसे छत्तीसगढ़ में थर्मल पावर प्लांट लाया और इसे कैसे सफल बनाया। उन्होंने कहा की मनोज कुमार जी के सफल प्रयास को देखते हुए एवं आग्रह को स्वीकार कर के माननीय मुख्यमंत्री जी ने 660 मेगावाट के दो संयंत्र कोरबा में स्थापित किये है।



Read More:-श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में बिजनेस फेस्ट का किया गया आयोजन, विद्यार्थियों दिखाये अपने एपिक आइडिया…

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एस. के. सिंह ने अपने उद्बोधन में सभी का स्वागत किया और अभियंता दिवस बधाई दी। उन्होंने कहा की मैं स्वीकार करता हूँ कि इस अवसर पर उपस्थिति अतिथियों ने केवल मनोबल बढ़ाया है, बल्कि हमारे संकाय सदस्यों और छात्रों को भी प्रेरित किया है। मैं इस अवसर पर आप सभी को शानदार दिन पर शुभकामनाएं देना चाहता हूं। इंजीनियर को समाज में बहुत सम्मानित दर्जा प्राप्त है, ऐसा कहा जाता है कि आप वह व्यक्ति हैं जो अपने दिमाग और रचनात्मकता से कुछ भी बना सकते हैं क्योंकि आप एक इंजीनियर हैं, यही वह सम्मान है जो इंजीनियरों को हमारे समाज में प्राप्त है , उन्होंने कहा की स्वदेशी वे हैं जो किताबी ज्ञान को वास्तविकता में अनुवाद करते हैं, ऐसा कहा जाता है कि ज्ञान का अर्थ इसे प्राप्त करना और इसे लागू करना है क्योंकि यदि आपके पास ज्ञान है और उस ज्ञान को लागू नहीं किया गया है,फिर उस ज्ञान का कोई उपयोग नहीं होगा इसलिए इंजीनियर वे वैज्ञानिक से अधिक महत्वपूर्ण हैं वे केवल महान कार्य करने का सपना देख सकते हैं लेकिन इंजीनियर पूरा उसे पूरा करते हैं।

कुलसचिव डॉ. सौरभ कुमार ने सभी मंच में अशीन अतिथियों, विश्वविद्यालय के सम्मानीय सदस्यों, शिक्षकों एवं विद्यार्थियों का स्वागत किया और उन्होंने कहा की विश्वविद्यालय की प्रगति में शामिल विश्वविद्यालय के सभी सदस्यों का में धन्यवाद करता हूँ। भारत का भविष्य और विश्वविद्यालय में अध्यनरत भावी इंजीनियर्स जो इस सभागार की शोभा बढ़ा रहे है, इनके उत्साहवर्धन के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है उन सभी को अभियंता दिवस की बधाई दी।


Read More:-श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय के एलएलबी के छात्रों ने छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण में इंटर्नशिप से प्राप्त की सफलता…

श्री मनोज कुमार वर्मा ने उपस्थित सभी विद्यार्थियों को और सदस्यगणों को अभियंता दिवस की बधाई दी। उन्होंने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया और आने वाले इंजीनियर्स को मार्गदर्शित किया। उन्होंने कहा की आज देश इजीनियर्स डे मना रहा है। बिना इंजीनियरों के किसी भी देश का विकास व निर्माण असंभव है। हर साल भारत में 15 सितंबर का दिन इंजीनियर्स डे के रूप में मनाता है। आज राष्ट्र निर्माण में इजीनियरों की तरफ से किए गए प्रयासों को सलाम करने का दिन है। यह दिन देश के महान इंजीनियर और भारत रत्न से सम्मानित मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया को समर्पित है।

श्री तालिब ख्वाजा ने अपने जीवन के अनुभव साझा किये और छात्रों को मार्गदर्शित किया उन्होंने बताया की इंजीनियर्स को हमेशा तत्पर होना चाहिए और कार्य करने में एक्टिव होना चाहिए चाहे कोई भी रुकावट क्यों न आये जीवन में। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा की आप हमारे आने वाले इंजीनियर्स है और आपको ये पता होना चाहिए की हमारे रायपुर एन आई टी से 10 छात्र चंद्रयान 3 के कार्य में शामिल है और ये हमारे लिए गर्व की बात है।

कार्यक्रम के अंत में विशिष्ट अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया और गुरु प्रशाद एवं प्रतीक चिन्ह प्रदान किया गया। विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति श्री हर्ष गौतम, कुलपति प्रो. एस के सिंह और कुलसचिव डॉ. सौरभ के. शर्मा ने सफल कार्यक्रम के लिए सभी सदस्यों को बधाई दी एवं उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की…

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में आयोजित किया गया कोरल ड्रॉ एवं फोटोशॉप पर दो दिवसीय कार्यशाला…


 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े