SRU: गणित के विभागाध्यक्ष डॉ. जितेन्द्र कुमार शर्मा का रिसर्च प्रबंध मैथमेटिक्स इन अन्सिएंट जैन लिटरेचर में हुआ प्रकाशित…

0

रायपुर।। श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय, रायपुर के गणित विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. जितेन्द्र कुमार शर्मा ने अनंत का सिद्धांत भारतीय गणितज्ञों की देन पर रिसर्च कर अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं। उन्होंने भारतीय गणितज्ञों की खोज उल्लेखित किया। डॉ. शर्मा ने वर्ल्ड साइंटिफिक पब्लिशिंग, सिंगापुर द्वारा हाल ही में प्रकाशित पुस्तक मैथमेटिक्स इन अन्सिएंट जैन लिटरेचर में प्रकाशित अपने प्रबंध में यह बात प्रतिपादित की है. वर्ल्ड साइंटिफिक पब्लिशिंग एक बहुत ही प्रतिष्ठित प्रकाशन कंपनी है जिसकी शाखाएं USA , UK , चीन और भारत में स्थित हैं.


Read More:-Pharmacy : जाने क्या है स्कोप, श्री रावतपुरा सरकार फार्मेसी कॉलेज में कैसे ले एडमिशन…

डॉ. शर्मा ने अपने प्रबंध में बताया है कि भारतीय गणितज्ञों ने 800 ई. से पूर्व ही ट्रांसफाइनाइट नंबर के सिद्धांत का विकास कर लिया था और उन्होंने सारी संख्याओं को तीन भागो में विभाजित किया था. जिसमे अंतिम भाग को अनंत कहा गया था. उन्होंने अनंत के 11 भेदों का उल्लेख भी काफी सटीक किया था. आधुनिक गणित में अनंत और ट्रांसफाइनाइट नंबर के सिद्धांत का श्रेय जर्मन गणितज्ञ जॉर्ज केंटर को दिया जाता है लेकिन वास्तव में अनंत और ट्रांसफाइनाइट नंबर का प्रयोग भारतीय मनीषियों ने 300 ई. पू. से ही करना प्रारम्भ कर दिया था. जिसमें आनुक्रमिक मनीषियों द्वारा विकास होता रहा.

Read More:-SRS : आईटीआई रावतपुरा धाम में मनाया गया “कौशल दीक्षांत समारोह”, छात्रों को दिया गया प्रशस्ति पत्र और नेशनल ट्रेड सर्टिफिकेट…

श्री रावतपुरा सरकार लोक कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष डॉ. जे. के. उपाध्याय, विश्वविद्यालय के प्रति-कुलाधिपति हर्ष गौतम, कुलपति प्रो एस. के. सिंह, कुलसचिव प्रभारी मनोज कुमार सिंह ने डॉ. शर्मा को भारतीय गणितज्ञों के कार्य को वैश्विक पटल पर लाने पर शुभकामनाएं दी…

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार विश्वविद्यालय में श्री रविशंकर जी महाराज ने किया प्रॉस्पेक्टस का विमोचन, कहा शिक्षा से आती है नम्रता…

 

srigo


 


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *