June 21, 2024

IPL : शानदार तेज गेंदबाज उभरकर आए सामने, भविष्य में टीम इंडिया का हो सकते है आधार…

0

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का 15वां सीजन कई अच्छी उम्मीदों के साथ खत्म हुआ। आईपीएल का आदर्श वाक्य है- ‘यहां प्रतिभा को मौका मिलता है’ और 2022 सीजन इस पर खरा उतरा। इस बिच कुछ शानदार तेज गेंदबाज उभरकर सामने आए। इसके साथ ही हार्दिक पंड्या ने भारत के संभावित कप्तान के रूप में दावा पेश किया। आने वाले कल के चमकते सितारे, जो चमकना शुरू कर चुके हैं सनराइजर्स हैदराबाद के लिए पहली बार पूर्ण सत्र में खेलते हुए उमरान मलिक ने लगातार 150 किमी प्रतिघंटा से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी करने की अपनी क्षमता की वजह से दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा।

_Advertisement_

join whatsapp

_Advertisement_

 

_Advertisement_

Read More:-श्री रावतपुरा सरकार इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग मंडला की छात्राओं ने दो दिवसीय स्वास्थय शिविर में दी सेवाएं…

भारतीय चयनकर्ता भी उनसे प्रभावित दिखे, जबकि बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज मोहसिन खान ने नई फ्रेंचाइजी लखनऊ सुपर जाइंट्स की तरफ से गति और सटीक गेंदबाजी का शानदार नजारा पेश करते हुए प्रभावित किया। इसके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स के मुकेश चौधरी और सिमरजीत सिंह, गुजरात टाइटन्स के यश दयाल और राजस्थान रॉयल्स के कुलदीप सेन भी दुनिया की सबसे बड़ी टी20 लीग में छाप छोड़ने वाले भारतीय तेज गेंदबाजों में शामिल रहे।

Read More:-सफलता : कद भले छोटे है लेकिन हौसले है आसमान छूने वाले, पढ़िए आईएएस ऑफिसर का सफर…

वहीं कुछ युवा बल्लेबाजों ने भी दिखाया कि वे शीर्ष स्तर पर खेलने में सक्षम हैं। इनमें मुंबई इंडियंस के तिलक वर्मा भी शामिल रहे, जिनकी सराहना उनके कप्तान रोहित शर्मा ने भी की। रोहित ने बाएं हाथ के इस बल्लेबाज को भारतीय टीम में खेलने का दावेदार बताया। पंजाब किंग्स के विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा से भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग काफी प्रभावित दिखे। उनकी टीम प्ले ऑफ में जगह बनाने में नाकाम रही, लेकिन उन्होंने मौकों का पूरा फायदा उठाया। आईपीएल में पहले भी खेल चुके ‘अनकैप्ड’ (जिन्होंने कोई अंतरराष्ट्रीय मुकाबला नहीं खेला हो) खिलाड़ियों में राहुल त्रिपाठी और अभिषेक वर्मा ने प्रभावित किया। त्रिपाठी हालांकि भारतीय टीम में जगह बनाने से चूक गए।

इस सत्र 2022 से हार्दिक पंड्या ने भारत के भविष्य के कप्तान के तौर पर अपनी दावेदारी पेश कर दी है। सत्र के शुरू होने से पहले हार्दिक की फिटनेस पर संदेह था, लेकिन उन्होंने गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने के साथ अपनी प्रदर्शन क्षमता का लोहा मनावाकर आलोचकों का मुंह बंद किया। उन्होंने चौथे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए टीम की जरूरत के अनुसार रक्षात्मक और आक्रामक खेल का शानदार सामंजस्य दिखाया।

Read More:-पत्रकारिता एवं जनसंचार विवि के पंचम दीक्षांत समारोह में शामिल हुए राज्यपाल और संत श्री रविशंकर जी महाराज, उपाधि धारको को दी शुभकामनाएं…

आईपीएल ने एक बार फिर से साबित किया कि इस खेल में उम्र सिर्फ एक संख्या है. इस सीजन को अनुभवी उमेश यादव, ऋद्धिमान साहा और दिनेश कार्तिक के दमदार प्रदर्शन के लिए याद किया जाएगा। कार्तिक ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए फिनिशर की भूमिका में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम में एक और वापसी की. उमेश ने टूर्नामेंट के शुरुआती चरण में केकेआर के लिए पावरप्ले में शानदार गेंदबाजी की तो साहा ने चैम्पियन गुजरात टाइटन्स के लिए बाद के मैचों में सलामी बल्लेबाज के तौर पर टीम को लगातार अच्छी शुरुआत दिलाई। आईपीएल के इस सत्र पर भी कोरोना वायरस का साया मंडराया था, लेकिन बीसीसीआई ने चीजों को सही तरीके से नियंत्रित करके 74 मैचों के टूर्नामेंट को सफलतापूर्वक पूरा किया। दिल्ली कैपिटल्स की टीम में कोविड-19 के कई मामले आए जिससे कुछ मैचों का कार्यक्रम बदलना पड़ा, लेकिन इससे टूर्नामेंट पर कोई खतरा नहीं आया।

Read More:-अनुभव : 16 घंटे पढ़ाई करना जरुरी नही, यूपीएससी टॉपर ने कहा कि शतरंज-क्रिकेट खेलकर हुई पढ़ाई…


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इन्हें भी पढ़े